banner
Jun 23, 2021
551 Views

72 घंटे के अंदर धार्मिक स्थलों का प्रसाद आपके घर पहुंचाएगा डाक विभाग

Written by
banner

काेराेना के चलते श्रद्धालु माता वैष्णो देवी, वाराणसी के काशी विश्वनाथ, सिद्धिविनायक मंदिर, शिरडी साईं मंदिर में पिछले वर्ष की भांति इस साल मंदिरों में नहीं जा पा रहे हैं. लेकिन श्रद्धालुओं काे अब निराश होने की कोई जरूरत नहीं है. क्योंकि डाक विभाग श्रद्धालुओं के लिए एक अच्छी खबर (Good news for devotees) लेकर आया है. इस बार प्रसाद घर पर पहुंचाने का निर्णय (Decision to deliver Prasad at home) मंदिर और डाक विभाग ने लिया है. इसके लिए श्रद्धालुओं को डाक विभाग से संपर्क करना हाेगा.

डाक विभाग की नई योजना के बारे में श्रद्धालुओं को भी जानकारी दी जा रही है. डाकिया लोगों के ऑर्डर किए गए पैकेट बंद प्रसाद को घर पर आकर देगा. ऑनलाइन प्रसाद ऑर्डर करने की सुविधा मंदिर प्रबंधन और डाक विभाग ने श्रद्धालुओं को दी है.

दरअसल, कोरोना संक्रमण के चलते लोग कहीं भी धार्मिक स्थलों व मंदिरों में नहीं जा सके. क्योंकि श्रद्धालुओं ने अन्य राज्यों में जाने के लिए परहेज भी किया. जो श्रद्धालु हर साल माता वैष्णो देवी, शिरडी साईं मंदिर या अन्य प्रसिद्ध मंदिरों में नहीं जा सके. उनके लिए डाक विभाग ने मंदिरों के साथ एमओयू किया है। हालांकि मंदिरों की वेबसाइट पर श्रद्धालुओं को आवेदन करना होगा. साइट पर आवेदन के बाद बुकिंग की जानकारी डाक विभाग को दी जाएगी.

डाकघर से 251 रुपये का ई-मनी ऑर्डर प्रवर अधीक्षक डाकघर वाराणसी मंडल के नाम भेजना होगा. ई-मनी ऑर्डर मिलते ही प्रसाद भेज दिया जाएगा. डिब्बा बंद प्रसाद टेंपर प्रूफ इनवेलप में होगा. इससे छेड़छाड़ नहीं की जा सकेगी. इस संबंध में जानकारी देते हुए सिरसा डाक घर के पोस्ट मास्टर नवीन कुमार ने बताया कि मां वैष्णो देवी का प्रसाद मंगवाने के लिए 500, 1100 और 2100 में बुकिंग कराई जा सा सकती है.

72 घंटे के अंदर प्रसाद काे डाकिया से श्रद्धालु के घर पर भिजवाया जाएगा. कांशी विश्वनाथ का प्रसाद ग्रहण करने के लिए 251 रुपये का ईएमओ डाक विभाग में करना हाेगा. तीनों मंदिरों की वेबसाइट पर भी आवेदन किया जा सकता है. साइट पर आवेदन के बाद बुकिंग की जानकारी डाक विभाग को दी जाएगी. इसके बाद प्रसाद आते ही श्रद्धालु तक पहुंचा दिया जाएगा.

banner

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *